27 Sep 2020, 18:45:09 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

मध्यप्रदेश के उन्नीस जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 8 2020 7:14PM | Updated Date: Aug 8 2020 7:15PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

भोपाल। बंगाल की खाड़ी और अरब सागर में बन रहे सिस्टमों के चलते मध्यप्रदेश के उन्नीस जिलों में आगामी चौबीस घंटों के दौरान भारी से अति भारी बारिश का ‘अलर्ट’ जारी किया गया। हालांकि इस दौरान राजधानी भोपाल में तेज बारिश के आसार नहीं दिख रहे हैं। मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वरिष्ठ वैज्ञानिक पी के साहा ने यूनीवार्ता को बताया कि अरब सागर और बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टमों के चलते मध्यप्रदेश को नमी मिल रही है, जिसके कारण कल से विदिशा, रायसेन, सीहोर, होशंगाबाद, बैतूल, अशोकनगर, गुना, शिवपुरी, श्योपुर, अनूपपुर, शहड़ोल, उमरिया, डिंडोरी, सिवनी, मंडला, बालाघाट, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़ जिलों में भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी है।
 
मौसम वैज्ञानिक साहा ने बताया कि इस दौरान भोपाल, चंबल और ग्वालियर संभागों के जिलों में कहीं कहीं तथा अन्य कुछ स्थानों में गरज चमक के साथ बिजली गिरने की भी संभावना जताई गयी है। उन्होंने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बन रहा सिस्टम कल मध्यप्रदेश के कुछ स्थानों पर तक पहुंच जाएगा, जिसके चलते शहडोल और जबलपुर संभागों के कुछ जिलों में बारिश होने के आसार हैं।
 
उन्होंने बताया कि 10 अगस्त से बारिश की गतिविधियों में और भी इजाफा होने की संभावना है। वहीं, बीते चौबीस घंटों के दौरान प्रदेश के नरसिंहपुर, जबलपुर, पचमढ़ी और खंडवा में तेज वर्षा हुई। नरसिंहपुर में 69 मिमी और खंडवा में 42 मिमी एवं पचमढ़ी में 37 मिमी वर्षा दर्ज की गयी, जबकि सतना, बैतूल, मंडला, सिवनी, नौगांव, उज्जैन, होशंगाबाद, सागर, रायसेन, दमोह, भोपाल, खजुराहो, इंदौर, छिंदवाड़ा, गुना, उज्जैन में हल्की वर्षा हुयी।
 
राजधानी भोपाल तथा उसके आसपास के क्षेत्रों में आज सुबह से बादल छाए रहे। इस दौरान कुछ स्थानों पर हल्की बारिश हुयी, जिसके चलते मौसम में ठंडक रही। आगामी चौबीस घंटों के दौरान यहां तेज बारिश के आसार तो नहीं हैं, लेकिन कुछ स्थानों पर बारिश की बौछारें पड़ने का अनुमान जताया गया है।
 

 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »