22 May 2022, 13:19:31 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

कप्तानी छोड़ने से पहले 4 क्रिकेटरों का करियर बना गए विराट कोहली

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 18 2022 3:38PM | Updated Date: Jan 18 2022 3:38PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। टीम इंडिया के सबसे सफल टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने हाल ही में कप्तानी से इस्तीफा देकर वर्ल्ड क्रिकेट को हैरान कर दिया. किसी ने सोचा भी नहीं होगा! कि विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट की भी कप्तानी छोड़ देंगे, जिसमें उनका बेहद शानदार रिकॉर्ड है। वो विराट कोहली ही थे। जो तब भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान बने थे! जब ICC रैंकिंग में टीम इंडिया 7वें नंबर पर थी। विराट कोहली ने कप्तानी संभालते ही टीम इंडिया की किस्मत बदल दी और उसे दुनिया की नंबर 1 टीम बना दिया. इस दौरान उन्होंने 4 खिलाड़ियों का करियर बना दिया. ये 4 क्रिकेटर आज के समय में सुपरस्टार हैं केएल राहुल को इन दिनों टेस्ट कप्तान बनने का दूसरा सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा है। पिछले कुछ टेस्ट मैचों में उन्होंने जिस तरह से बल्लबाजी की है।

वो वाकई कमाल की रही है। विराट कोहली की ही कप्तानी में केएल राहुल का टेस्ट करियर बना और इस तरह वो लोगों के सामने निखरकर आए साल 2014 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर केएल राहुल को टेस्ट टीम में मौका मिला था। इस दौरे पर विराट टेस्ट टीम के परमानेंट कप्तान भी बन चुके थे. शुरुआती दौर में केएल राहुल टेस्ट करियर की कई पारियों में लगातार फ्लॉप शो देते रहे। इसके बाद उन्हें 2 साल तक टेस्ट फॉर्मेट से भी बाहर रहना पड़ा. लेकिन, पूर्व कप्तान विराट कोहली का विश्वास उन पर से डगमगाया नहीं था। पिछले साल इंग्लैंड दौरे पर उन्होंने केएल को मौका दिया और इस मौके को भुनाने में लोकेश राहुल कामयाब रहे। यह बड़ा कारण है। कि आज वो टीम इंडिया के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजों में शुमार हैं। इस लिस्ट में पहला बड़ा नाम टेस्ट टीम के घातक गेंदबाज मोहम्मद सिराज का आता है।

जिन्हें 1 साल से पहले कोई नहीं जानता था। लेकिन, पिछले साल उन्हें टेस्ट फॉर्मेट में जब डेब्यू करने का मौका मिला तो उन्होंने पूरे क्रिकेट जगत को अपनी गेंदबाजी से हिलाकर रख दिया. आज के समय में सिराज टेस्ट टीम की ताकत माने जाते हैं। लेकिन, सिराज के करियर की शुरुआत जिस तरह से हुई। उससे किसी ने ये कल्पना तक नहीं की थी कि वो यहां तक पहुंच पाएंगे। उन्हें पहले वनडे और टी20 टीम में मौका दिया गया था और आईपीएल की ही तरह उन्होंने इस फॉर्मेट में जमकर रन लुटाए. आगाज के साथ ही लगा कि सिराज का करियर खत्म हो जाएगा. हालांकि विराट कोहली ने साल 2020-21 में हुए ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर उन्हें मौका दिया. इसके बाद उनकी किस्मत ने ऐसी बाजी मारी कि अब वो टीम का एक अहम हिस्सा बन गए हैं।

इस लिस्ट में टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत का भी नाम आता है. जिन्हें टीम इंडिया का अहम सदस्य माना जाता है। एक समय ऐसा भी था। जब पंत का टेस्ट करियर खत्म होने की कगार पर था। लेकिन उनके डूबते करियर को सहारा विराट कोहली ने दिया। यह कहना गलत नहीं होगाकि यदि टीम के कप्तान विराट कोहली नहीं होते तो शायद ऋषभ पंत का करियर इतना अच्छा नहीं होता महेंद्र सिंह धोनी के बाद टीम को एक अच्छे विकेटकीपर की जरुरत थी। जिसके बाद ऋद्धिमान साहा के साथ पंत को अजमाया जाने लगा. पंत अपने करियर की शुरुआत में पूरी तरह से फ्लॉप रहे थे। लेकिन, वो कोहली का विश्वास ही था जिसने उन्हें आज इस तरह बना दिया है कि उनकी तुलना धोनी से होने लगी है। इस वक्त ये खिलाड़ी दुनिया का सबसे घातक विकेटकीपर होने के साथ ही विस्फोटक बल्लेबाज भी है। जो टीम इंडिया का सबसे बड़ा एक्स फैक्टर माना जाता है!

पंत गेम की दिशा कब पलट दें ये तो शायद वो खुद भी नहीं जानते भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह का डेब्यू भले ही एमएस धोनी की कप्तानी में हुआ हो। लेकिन, टेस्ट फॉर्मेट में उन्हें पॉपुलैरिटी विराट कोहलीकी कप्तानी में मिली. व्हाइट बॉल क्रिकेट में बुमराह के नाम का डंका बजने लगा था। लेकिन, उन्हें टेस्ट क्रिकेट में मौका नहीं मिला था। आज के दौर में बुमराह का नाम टेस्ट फॉर्मेट के सबसे घातक गेंदबाजों की लिस्ट में आता है जसप्रीत बुमराह को कोहली ने ही अपनी कप्तानी में साल 2018 में टेस्ट फॉर्मेट में डेब्यू करने का मौका दिया था। आज बुमराह उस मुकाम पर पहुंच चुके हैं। कि उन्हें टेस्ट प्रारूप में कप्तानी का दावेदार माना जाता है। बुमराह के करियर को निखारने में सबसे बड़ा रोल पूर्व कप्तान कोहली का रहा है। अक्सर मैदान पर शांत स्वभाव के लिए जाने जाने वाले बुमराह अपने आक्रामक तेवर भी दिखाने लगे हैं।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »