03 Mar 2021, 02:14:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Other Business

कोका कोला के 'अलग करो' अभियान के दूसरे फेज को किया लॉन्च

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Dec 8 2020 5:38PM | Updated Date: Dec 8 2020 5:38PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

गुरूग्राम। अलग करो- हर दिन तीन बीन प्रोग्राम के पहले फेज के सफलतापूर्वक पूरा होने के बाद सोर्स सेग्रीगेशन प्रोग्राम का दूसरा फेज अलग करो 2.0 गुरूग्राम में इसी सप्ताह की शुरूआत में लॉन्च किया गया। इस अवसर पर गुरूग्राम के निगम आयुक्त विनय प्रताप सिंह उपस्थित हुए। म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन ऑफ गुरूग्राम (एमसीजी), कोका-कोला इंडिया, ड्यूश गेसेलशाफ्ट फुर इंटरनेशनले जुसाम्मेनारबेट (जीआईजेड) जीएमबीएच और टेट्रा पैक इंडिया के सहयोग से गुरूग्राम, और नयी दिल्ली के चयनित स्थानों में इस प्रोग्राम की पहुँच को बढ़ाने के लिये एक बार फिर साहस (एक गैर लाभकारी संस्‍­थान) के साथ साझेदारी की गई है। अलग करो प्रोग्राम के फेज 2 की शुरूआत करते हुए गुरूग्राम के म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन और साहस ने वार्ड नंबर 32 समेत वार्ड स्तर पर अपशिष्ट को स्रोत से अलग करने पर जागरूकता निर्मित करने और क्रियान्वयन करने के लिये एक समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। 
 
अलग करो फेज 1 ऊँची आवासीय सोसायटीयों, वाणिज्यिक संकुलों और संस्थानों पर लक्षित था, जबकि फेज 2 शहर के अन्य उपनिवेशों, जैसे स्वतंत्र घरों, झुग्गियों, छोटी दुकानों और स्ट्रीट मार्केट्स पर केन्द्रित है। अलग करो 2.0 लॉन्च इवेंट का आयोजन इस सप्ताह की शुरूआत में हुआ था, जिसमें साझीदारों की एक व्यापक श्रृंखला ने भाग लिया, जैसे स्थानीय अधिकारी, आरडब्ल्यूए, निजी भागीदार और एनजीओ। इससे अपशिष्ट के पृथक्करण और प्रबंधन को बढ़ावा देने में नागरिकों की भागीदारी के महत्व और शहर के अपशिष्ट के वैज्ञानिक प्रबंधन में एमसीजी के अथक प्रयासों पर प्रकाश डाला गया। प्रोग्राम के फेज 1 की सफलता के आधार पर अलग करो 2.0 इस प्रोग्राम से उत्पन्न प्रभाव को अगले चरण में ले जाने वाली पहल है। अलग करो 2.0 का मुख्य उद्देश्य स्रोत से पृथक्करण को बढ़ावा देकर और शहर के 100,000 से ज्यादा लोगों को जागरूक बनाकर अपशिष्ट के स्थायी प्रबंधन पर समझ और संवेदनशीलता को बढ़ाना है। 
 
इस प्रोग्राम का लक्ष्य अपशिष्ट के व्यवस्थित संग्रह और प्रोसोसिंग पर 300 अपशिष्ट कर्मियों के प्रशिक्षण के साथ औपचारिक भागीदारी के माध्यम से पुन:चक्रण की दरों को बेहतर करना और डम्पिंग तथा लैण्डफिल में कमी करना है। इसके अलावा, प्रोग्राम का दूसरा फेज नई दिल्ली तक विस्तारित होगा और शुरूआत में 2000 परिवारों तक पहुँचेगा और प्रोग्राम के मौजूदा अलग करो आरडब्ल्यूए वालंटीयर्स और अपार्टमेन्ट कम्युनिटीज के लिये सहयोग जुटाएगा।
 
अलग करो 2.0 के लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए साहस की सीईओ दिव्या तिवारी ने कहा,‘‘हमने निश्चित रूप से लंबी दूरी तय की है। अलग करो प्रोग्राम आज अपने दूसरे फेज में प्रवेश कर रहा है, लेकिन इसकी शुरूआत एक शहर के स्तर से हुई थी, छोटे पैमाने पर, एक कॉलोनी या गांव से। आज यह एक व्यवस्थित स्रोत पृथक्करण कार्यक्रम बन गया है, जिसके परिणाम स्पष्ट और पारदर्शी हैं। इस प्रोग्राम के हिस्से के तौर पर हुई प्रत्येक गतिविधि ने हमें नई चीजें सिखाई हैं और स्रोत पृथक्करण के क्रियान्वयन और स्थायित्व के लिये एक विस्तृत चरणबद्ध दृष्टिकोण विकसित करने में हमारी मदद की है। 
 
हमें विश्वास है कि पहले फेज की तरह अलग करो 2.0 भी अत्यंत सफल और लाभप्रद होगा। हम अपने प्रोग्राम पार्टनर्स कोका-कोला इंडिया, टेट्रा पैक, जीआईजेड और स्थानीय अथॉरिटी, अर्थात् गुरूग्राम की म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन से मिले सहयोग की सराहना करते हैं। कोका-कोला इंडिया एंड साउथ वेस्ट एशिया के कम्युनिकेशंस एंड सस्टेनेबिलिटी, पब्लिक अफेयर्स, के वाइस प्रेसिडेन्ट इश्तियाक अमजद  ने कहा, ‘‘कोका-कोला इंडिया में हम ‘अपशिष्ट मुक्त संसार’ बनाने के अपने लक्ष्य के अनुसार चलते हैं। हम साल 2030 तक उस प्रत्येक बॉटल को रिसाइकल करना चाहते हैं, जिसे हम बेचते हैं। 
 
इसके लिये, हमारे पास तीन बिन्दुओं वाली रणनीति है- डिजाइन, कलेक्ट और पार्टनर। हम स्रोत के स्तर पर अपशिष्ट के संग्रह और पृथक्करण को चलाने और गति देने के लिये अपने क्रियान्वयन भागीदार साहस के साथ एक बार फिर से जुड़कर गर्वान्वित हैं। आज उत्पन्न हो रहे अपशिष्ट की मात्रा और उसका फैलाव चिंताजनक हैं और व्यक्तिगत स्तर पर अपने व्यवहार में बदलाव करना हम सभी की जिम्मेदारी है। इससे हमें न केवल भारत सरकार के स्वच्छ भारत मिशन में योगदान देने में मदद मिलेगी, बल्कि एक हरित, स्वच्छ, स्वस्थ, सुरक्षित और स्थायी पर्यावरण बनाने में भी मदद मिलेगी।’’ 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »