25 Feb 2020, 09:08:02 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

2000 के नोट को लेकर देश में मची खलबली, रिजर्व बैंक का ये बड़ा खुलासा...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 24 2020 11:16AM | Updated Date: Jan 24 2020 1:26PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्‍ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने एक आरटीआई के जवाब में खुलासा किया है कि 2000 रुपये के नोटों की छपाई बंद कर दी गई है। इस वित्त वर्ष में 2,000 रुपये का एक भी नोट नहीं छापा गया है। RBI ने वित्तीय वर्ष 2016-17 में 3,542.991 मिलियन नोट छापे, जो 2017-18 में 111.507 मिलियन नोटों पर आ गए और वर्ष 2018-19 में 46.690 मिलियन नोटों में और कम हो गए, जैसा कि RBI द्वारा द न्यू इंडियन एक्सप्रेस द्वारा दायर आर.टी.आई. के उत्तर में बताया गया था।
 
अधिकारियों के अनुसार, 2,000 रुपये के नोटों का उच्च प्रचलन सरकार के उद्देश्यों को हरा सकता है क्योंकि उच्च मूल्यवर्ग के नोटों की तस्करी करना आसान है। पहले ऐसी खबरें थीं कि 2,000 रुपये के नोटों की छपाई बंद कर दी गई है, लेकिन सरकार ने इसका खंडन किया था। आरबीआई द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, मार्च 2018 के अंत में प्रचलन में 3,363 मिलियन नोट थे, जो मात्रा के संदर्भ में कुल मुद्रा का 3.3 प्रतिशत और मूल्य के संदर्भ में 37.3 प्रतिशत थे।
 
आरटीआई का जवाब तब आता है जब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने दावा किया था कि 'उच्च गुणवत्ता वाले' नकली नोटों का पुनर्जीवन हुआ है, जिसमें पाकिस्तान मुख्य स्रोत है। नवंबर 2016 में सरकार द्वारा 500 रुपये और 1,000 रुपये के पुराने नोटों पर प्रतिबंध लगाने के फैसले की घोषणा के बाद शीर्ष बैंक ने 2,000 रुपये के नोट को पेश किया था। 500 रुपये के नए नोटों का खनन किया गया था, फिर भी 1000 रुपये के नए नोट नहीं आए हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »