26 Feb 2021, 12:22:15 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

IND-AUS टेस्ट सीरीज का जिक्र कर पीएम मोदी ने छात्रों को दिया ऐसा 'ज्ञान'

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jan 22 2021 12:25PM | Updated Date: Jan 22 2021 12:25PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए असम के तेजपुर यूनिवर्सिटी के 18वें दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद रहे। 18वें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'आज 1200 से ज्यादा छात्रों के लिए जीवन भर याद रहने वाला क्षण है। आज से आपके करियर के साथ तेजपुर यूनिवर्सिटी का नाम हमेशा के लिए जुड़ गया है। आज जितना खुश आप हैं उतना ही खुश मैं भी हूं।
 
पीएम मोदी ने आगे कहा, 'तेजपुर विश्वद्यालय की एक पहचान अपने इनोवेशन सेंटर के लिए भी है। आपके ग्रास रूट इनोवेशन वोकल फॉर लोकल को भी नई ताकत देते हैं। ये इनोवेशन स्थानीय समस्याओं को सुलझाने में काम आ रहे हैं जिससे विकास के नए द्वार खुल रहे हैं।
पीएम मोदी ने कहा, 'कोरोना के काल में आत्मनिर्भर भारत अभियान हमारी शब्दावली का अहम हिस्सा हो गया है। हमारे अंदर वो घुल मिल गया है। हमारा पुरुषार्थ, हमारे संकल्प, हमारी सिद्धि, हमारे प्रयास ये सब हम अपने ईर्द-गिर्द महसूस कर रहे हैं।
 
पीएम मोदी ने या भी कहा कि हमारी सरकार आज जिस तरह नार्थ ईस्ट के विकास में जुटी है, जिस तरह कनेक्टिविटी, शिक्षा और स्वास्थ्य हर सेक्टर में काम हो रहा है, उससे आपके लिए अनेकों नई संभावनाएं बन रही हैं। इन संभावनाओं का पूरा फायदा उठाइए। पीएम ने कहा कि देश का मिजाज अब जरा हटकर है। क्रिकेट में यह देखा गया। ऑस्ट्रेलिया में भारतीय टीम की पहले कितनी बुरी हार हुई। सामने कई चुनौतियां थीं। प्लेयर घायल हुए लेकिन खिलाड़ियों ने सबका समाधान निकाला।
 
नए खिलाडियों में अनुभव कम था लेकिन हौसला पूरा था। मौके मिलते ही उन्होंने इतिहास बना दिया। इतनी बड़ी टीम को पराजित कर दिया। क्रिकेट के मैदान का प्रदर्शन हमें सिखाता है कि खुद पर विश्वास रखो, पॉजेटिव माइंडसेट से आगे बढ़ो, तीसरी चीज आपके सामने आसानी से निकल जाने का मौका या चुनौतियों का सामना करके जीतने का मौका मिले तो चुनौतियों वाला रास्ता चुनना चाहिए। रिस्क लेने से, प्रयोग करने से डरना नहीं है। बिना बात का प्रेशर जब लेते हैं तो चीजें खराब होती हैं।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »