06 Aug 2021, 06:11:16 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

AAP के बाद सपा का आरोप, मंदिर की जमीन 2 करोड़ से 10 मिनट में 18 करोड़ के हो गए

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jun 13 2021 7:33PM | Updated Date: Jun 13 2021 7:33PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

लखनऊ। AAP संसद संजय सिंह ने आरोप लगाया था कि अयोध्या में लाखों लोगों ने करोड़ों रुपए का मंदिर के नाम पर चन्दा दिया और उसमें घोटाला किया गया है। अयोध्या में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई जमीन पर सवाल उठाए गए हैं। अब समाजवादी पार्टी (सपा) में मंत्री रहे तेज नारायण पांडे उर्फ पवन पांडे ने राम मंदिर जमीन खरीद बिक्री को लेकर गंभीर आरोप लगाए हैं। तेज नारायण पांडे उर्फ पवन पांडे आरोप लगाया है कि 2 करोड़ में जमीन का बैनामा हुआ और उसी दिन फिर साढ़े 18 करोड़ में एग्रीमेंट हुआ। एग्रीमेंट और बैनामा दोनों में ही ट्रस्टी अनिल मिश्रा और अयोध्या के मेयर ऋषिकेष उपाध्याय गवाह हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि 18 मार्च 2021 को ही करीब 10 मिनट पहले बैनामा भी हुआ और फिर एग्रीमेंट भी, जिस जमीन को दो करोड़ में खरीदा गया उसी जमीन का 10 मिनट बाद साढ़े 18 करोड़ में एग्रीमेंट क्यों हुआ?

पवन पांडेय ने सवाल उठाए हैं कि मिनटों में ही 2 करोड़ की कीमत की जमीन साढ़े 18 करोड़ कैसे हो गई? राम मंदिर के नाम पर  जमीन खरीदने के बहाने राम भक्तों को ठगा जा रहा है. उन्होंने यह भी दावा किया है कि जमीन खरीदने का सारा खेल मेयर और ट्रस्टी को मालूम था। इस पूरे मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए. पवन पांडे का दावा है कि 17 करोड़ RTGS किया गया, किन-किन खाते से पेमेंट हुआ इसकी भी जांच होनी चाहिए। प्रभु श्री राम के नाम पर जमीन खरीद में भ्रष्टाचार हो रहा है। 12080 वर्ग मीटर यानि 1.208 हेक्टेयर जमीन का बैनामा और एंग्रीमेंट हुआ बाबा हरिदास ने सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी को बेचा और उसी को ट्रस्ट ने खरीदा.10 मिनट में जमीन की कीमत 16 करोड़ बढ़ गई।
 
इससे पहले AAP के राज्यसभा संसद संजय सिंह ने राम मंदिर ट्रस्ट पर बड़ा आरोप लगाया था। संजय सिंह ने कहा है कि राम मंदिर के निर्माण के नाम पर करोड़ों की धोखाधड़ी की गयी है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर ट्रस्ट के नाम पर चम्पत राय ने करोड़ों रुपए चम्पत कर दिया है। उन्होंने सीधे-सीधे कहा है कि लाखों लोगों ने करोड़ों रुपए का मंदिर के नाम पर चन्दा दिया और उसमें घोटाला किया गया है। संजय सिंह ने आरोप लगाया कि अयोध्या में 5 करोड़ 80 लाख की मालियत की कुसुम पाठक और हरीश पाठक की जमीन सुलतान अंसारी और रवि मोहन तिवारी ने खरीदी। इस जमीन खरीदी के गवाह अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय और ट्रस्ट के एक सदस्य अनिल मिश्र बने। AAP संसद संजय सिंह ने कहा कि 5 करोड़ 80 लाख की जमीन को मात्र 2 करोड़ में खरीदी गई। आप संसद संजय सिंह ने आरोप लगाया कि इसके बाद उस जमीन को चम्पत राय ने तुरन्त राम मंदिर ट्रस्ट के नाम पर 18.50 करोड़ में सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी से खरीद ली। जिसके बाद अनिल मिश्रा और ऋषिकेश उपाध्याय फिर से खरीदी के गवाह बनाए गए।
 
AAP संसद संजय सिंह ने पूछा कि जो जमीन 2 करोड़ में खरीदी गई थी उसी जमीन को साढ़े 18 करोड़ में राम मंदिर ट्रस्ट के नाम से क्यों खरीदी गई? संजय सिंह ने कहा कि यह सीधे सीधे Money Laundering का केस है और देश के करोड़ों राम भक्तो के आस्था के साथ खिलवाड़ हुआ है। लाखों लोगों ने करोड़ों रुपए का मंदिर के नाम पर चन्दा दिया और उसमें घोटाला किया गया है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »