13 Jun 2021, 19:55:51 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

भारत को 17 देशों से मिली सहायता सामग्री जानिए मददगार देशों के नाम

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 6 2021 9:10PM | Updated Date: May 6 2021 9:10PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारत में कोविड महामारी से मुकाबले के लिए अब तक 17 देशों से सहायता सामग्री प्राप्त हुई है जिनमें 13 ऑक्सीजन जेनेरेटर, 3209 ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर, 3011 सिलेंडर एवं 2477 वेंटीलेटर एवं सहायक उपकरण तथा करीब दो लाख 86 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन शामिल हैं। सरकार के आंकड़ों के अनुसार ब्रिटेन, मॉरीशस, सिंगापुर, रूस, संयुक्त अरब अमीरात, आयरलैंड, रोमानिया, अमेरिका, थाईलैंड, जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम, इटली, ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, कुवैत एवं बंगलादेश से सहायता सामग्री आयी है। रूस से करीब डेढ़ लाख स्पूतनिक-5 वैक्सीन भी भेजी है।
 
ये सामग्री 27 अप्रैल से लेकर गुरुवार छह मई तक प्राप्त हुई है। इसके अलावा सऊदी अरब से समुद्र के रास्ते 80 टन द्रवीकृत मेडिकल ऑक्सीजन आयी है। फ्रांस ने भारत को अस्पताल में ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले आठ अत्याधुनिक संयंत्र प्रदान किये हैं। प्रत्येक नोवएयर प्रीमियम आर एक्स 400 हॉस्पिटल लेवल ऑक्सीजन जेनेरेटर 250 बिस्तरों को सालभर तक ऑक्सीजन दे सकता है। ये ऑक्सीजन जेनेरेटर आठ अस्पतालों को दस साल से अधिक समय तक अनवरत प्राणवायु प्रदान करने में सक्षम है। सरकार ने प्राथमिकता एवं आवश्यकता के आधार पर उन आठ अस्पतालों को पहले से चिह्नित कर लिया है जहां ये संयंत्र लगाये जाएंगे। इनमें से दिल्ली के चार अस्पताल धर्मशिला अस्पताल, संजय गांधी अस्पताल, अंबेडकर अस्पताल और इन्द्रप्रस्थ अपोला अस्पताल शामिल हैं। इनके अलावा हरियाणा एवं तेलंगाना के अस्पताल हैं। इससे कई महत्वपूर्ण स्थानों पर ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर राहत मिल सकेगी।
 
विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला के अनुसार सरकार मुख्य रूप से आक्सीजन उत्पादक संयंत्र, कन्सन्ट्रेटर, आक्सीजन सिलेंडर, क्रायोजेनिक टैंकर सहित तरल आक्सीजन हासिल करने पर फोकस कर रही है। चिकित्सा आपूर्ति सीधी खरीद एवं अन्य माध्यमों से लाई जा रही है।
उनका कहना है कि अमेरिका, रूस, जापान, फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन समेत 40 से अधिक देशों ने भारत की मदद के लिए मेडिकल सामग्री एवं ऑक्सीजन संबंधी उपकरण देने की पेशकश की है। दुनिया के विभिन्न हिस्सों से 500 से अधिक ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र, 4 हजार ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर, 10 हजार ऑक्सीजन सिलेंडर आ रहे हैं। भारत का मानना है कि कोविड महामारी ने विश्व के समक्ष एक अभूतपूर्व परिस्थितियां पैदा कर दीं हैं और इस महामारी से दुनिया को एकजुट होकर ही निपटना होगा।
 
 

 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »