15 Apr 2021, 16:31:10 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

संदिग्ध कार केस: जिलेटिन केस में मुंबई क्राइम ब्रांच ने बनाईं 10 जांच टीमें

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 27 2021 11:21AM | Updated Date: Feb 27 2021 11:22AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई । देश के सबसे अमीर व्‍यक्ति और रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी के मुंबई आवास ‘एंटिलिया’ के बाहर  गुरुवार को एक संदिग्ध स्कॉर्पियो कार के मिलने से सनसनी फैल गई थी। इस गाड़ी में जिलेटिन की 20 छड़ें मिली थीं, साथ ही कुछ अन्य दस्तावेज़ भी बरामद किए गए, जिसके बाद मामले की जांच की जा रही है। CCTV फुटेज की जांच में सामने आया है कि एंटीलिया के बाहर कार 24 फरवरी की रात करीब एक बजे पार्क की गई थी। इससे पहले ये कार 12:30 बजे रात को हाजी अली जंक्शन पहुंची थी और यहां करीब 10 मिनट तक खड़ी रही। महाराष्ट्र सरकार ने इस मामले की जांच मुंबई क्राइम  ब्रांच को सौंपी है, साथ ही अबतक इस मामले में केस भी दर्ज कर लिया गया है। 
 
जांच में पता चला कि यह इनोवा गाड़ी रात 1 बजकर 20 मिनट को ठाणे से चली थी। रास्ते में उसने प्रियदर्शिनी चौक के पास संदिग्ध स्कॉर्पियो कार के ड्राइवर को साथ लिया। दोनों गाड़ियां रात 2 बजकर 18 मिनट पर मुकेश अंबानी के घर के पास खड़ी हुईं। स्कॉर्पियो वहीं खड़ी रही। इसका ड्राइवर करीब 3-4 मिनट बाद स्कॉर्पियो से बाहर निकला और इनोवा गाड़ी में बैठा। फिर इनोवा वहां से चली गई। इनोवा कार की नंबर प्लेट भी फर्जी निकली। रात 3 बजकर 5 मिनट पर इनोवा गाड़ी मुलुंड चेकनाका से गुजर कर ठाणे से आगे वापस निकल गई। खास बात यह है कि मुकेश अंबानी की बिल्डिंग के पास घंटो तक खड़ी रही स्कॉर्पियो कार के नंबर पर ट्रैफिक पुलिस ने ई-चालान भी काटा।
 
मुंबई क्राइम ब्रांच सूत्रों के अनुसार, जिस स्कॉर्पियो कार में जिलेटिन मिले, वह ऐराली-मुलुंड के बीच एक ब्रिज के पास से चुराई गई। यह इलाका विक्रोली पुलिस के ज्यूरिडिक्शन में आता है। कार मालिक ठाणे का रहनेवाला है। वह 17 फरवरी की रात परिवार के साथ किसी प्रोग्राम में इस कार में बैठकर जा रहा था। रास्ते में उसकी गाड़ी खराब हो गई, इसलिए उसने यह कार वहां खड़ी की और रेडियो टैक्सी से बैठकर प्रोग्राम में चला गया। लौटकर जब वह आया, तो उसकी गाड़ी चोरी हो चुकी थी। उसने पुलिस में एफआईआर भी कराई थी। बाद में आरोपियों ने इस कार की नंबर प्लेट बदल दी थी। इंजन और चेसिस नंबर भी बदल दिए थे।
 
नंबर प्लेट जो बदली गई, वह मुकेश अंबानी की मूल गाड़ी से मिलती हुई नंबर प्लेट है। खास बात यह है कि इस चोरी की गई गाड़ी में करीब आधा दर्जन और फर्जी नंबर प्लेट मिले। सभी मुकेश अंबानी की कंपनी की कारों के नंबर हैं। इस स्कॉर्पियो कार में 21 जिलेटिन की छड़ें मिली थीं। क्राइम ब्रांच सूत्रों का कहना है कि स्कॉर्पियो कार में बरामद हर जिलेटिन 125 ग्राम की थी। यदि इन्हें विस्फोट के लिए असेंबल किया जाता और विस्फोट हो जाता, तो कार के परखचे उड़ जाते। मुंबई क्राइम ब्रांच चीफ मिलिंद भारंबे के अनुसार, विस्फोट का असर 30 वर्ग फीट तक होता।
 
जांच टीम को कार से एक लेटर मिला है। इसमें लिखा हुआ है- ‘ मुकेश भैया एंड नीता भाभी। एक झलक है यह। अगली बार यह सामान पूरा कनेक्ट हो जाएगा। ओरिजिनल गाड़ी में आएगा। तुम्हारी पूरी फैमिली को उड़ाने का इंतजाम हो गया है। संभल जाना।’ इस धमकी भरे पत्र में ग्रामर की बहुत गलतियां थीं। कार में एक बैग भी मिला है, जिस पर मुंबई इंडियंस लिखा हुआ था।
 
महाराष्ट्र सरकार ने हालांकि अधिकृत रूप से उस केस की जांच मुंबई क्राइम ब्रांच को सौंपी है, लेकिन शुक्रवार को एनआईए की टीम ने भी इस केस की समानांतर जांच शुरू की। मुंबई में एनआईए का दफ्तर संयोग से मुकेश अंबानी के घर से कुछ किलोमीटर दूर ही है। महाराष्ट्र एटीएस और आईबी भी अपने-अपने स्तर पर आरोपियों से जुड़े इनपुट्स निकाल हैं। कार में जो जिलेटिन की छड़ें मिली हैं, उस मामले में मुंबई क्राइम ब्रांच ने नागपुर की एक कंपनी सोलर एक्सप्लोसिव के मालिक सत्यनारायण नोवल से पूछताछ की है। जिलेटिन की यह छड़ें इसी कंपनी की बनी हुई हैं।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »