14 May 2021, 03:51:50 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर कांग्रेस ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 19 2021 7:56PM | Updated Date: Feb 19 2021 7:57PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। पार्टी ने कहा है कि 11 दिनों से लगातार बढ़ रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों के कारण यह सरकार देश की जनता के लिए अभिशाप बन गई है। ईंधन की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी के कारण भाजपा को यदि 'भयंकर जनलूट पार्टी' कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। कांग्रेस ने मांग की है कि जनहित में पेट्रोल-डीजल की कीमत में कटौती की जाए।

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला और प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि मई 2019 के बाद आज तक पेट्रोल की कीमतें 15.21 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमतें 15.33 रुपये प्रति लीटर बढ़ाई जा चुकी हैं। सुरजेवाला ने कहा कि एक तरफ महंगाई की मार तो दूसरी ओर डीजल-पेट्रोल-गैस के दामों में वृद्धि का अत्याचार। आखिर लोग किस प्रकार सर्वाइव कर पाएंगे।

उन्होंने कहा कि आज स्थिति यह है कि पेट्रोल 100 रुपये और डीजल 90 रुपये के आंकड़े को पार कर गया है। सुरजेवाला ने सरकार की नीतियों पर तंज कसते हुए कहा कि आज आम जनता कह रही है कि मोदी जी का एक ही नारा है 'हम दो, हमारे दो.. डीजल 90, पेट्रोल 100..।' गौरव वल्लभ ने कहा कि मई 2014 से जनवरी 2021 के बीच मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर टैक्स लगाकर कुल 21 लाख 50 हजार करोड़ की कमाई की। आखिर ये पैसे कहां गए? उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को डुबोने के बाद सरकार अब किसानों, मजदूरों और मध्यमवर्गीय लोगों पर टैक्स का बोझ लाद रही है।

नेताद्वय ने कच्चे तेल का घरेलू उत्पादन करने वाली सरकारी कंपनी ओएनजीसी का बजट कम करने को लेकर भी मोदी सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि साल 2020-21 में ओएनजीसी का बजट 32,501 करोड़ रुपये था लेकिन इस बार उसे कम करके 29,800 करोड़ रुपये कर दिया गया। इतना ही नहीं गुजरात की डूबी हुई कंपनी 'गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (जीएसपीसी) को जबरन ओएनजीसी को बेचकर उसे 24,881 करोड़ रुपये का कर्ज लेने के लिए मजबूर किया गया। सुरजेवाला ने कहा कि सरकारी कंपनी ओएनजीसी का यह सच मोदी सरकार द्वारा देश में कच्चे तेल का उत्पादन वाली कंपनी को बर्बाद करने की कहानी बयां कर रहा है।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »