24 Nov 2020, 01:01:57 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

राम मंदिर के लिए भूमि पूजन के बाद अयोध्या में जमीन की कीमतें हुई दोगुनी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 21 2020 4:05PM | Updated Date: Sep 21 2020 4:06PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

अयोध्या। अगस्त में राम मंदिर के लिए भूमि पूजन होने के बाद उत्तर प्रदेश के अयोध्या में जमीन की कीमत दोगुनी हो गई। राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले और अगस्त में मंदिर के लिए हुए समारोह के बीच 30-40% की वृद्धि देखी गई। टीओआई के अनुसार शहर के आस-पास के इलाकों में भी जमीन की कीमतें 1,000-1,500 रुपए प्रति वर्ग फीट तक बढ़ गई हैं, जबकि प्राइम लोकेशन पर ये दरें 2,000- 3,000 रुपए तक अधिक हो गई हैं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले से पहले जमीन 900 रुपए प्रति वर्ग फीट में आसानी से उपलब्ध थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा तीन बड़ी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं, तीन सितारा होटलों और एक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की घोषणा के बाद इलाके में जमीन की डिमांड बढ़ गई। सीएम ने इस शहर को भारत के वेटिकन में बदलने का वादा किया था। दशकों से चल रहे राजनीतिक विवाद के कारण शहर की वास्तविक कीमतें दशकों तक उदास रहीं। शहर का सबसे नजदीकी होटल फैजाबाद में था। बाहरी इलाकों में सुविधाओं की कमी के कारण प्रति वर्ग फीट 300-450 रुपए की कीमतें रखी गईं थी।

प्राइवेट डिमांड अधिक होने, बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के लिए जमीन की विशाल मात्रा में खरीद की वजह से कीमतें बढ़ रही हैं। हालांकि प्राइवेट खरीदार अपने निवेश से सावधान रहते हैं, क्योंकि वे प्रीमियम पर खरीदते हैं और बाद में उनकी जमीन राज्य द्वारा अधिग्रहित कर ली जाती है। रिपोर्ट के मुताबिक लोकल प्रोपर्टी एजेंटों का कहना है कि स्थानीय अधिकारियों ने पहले से ही जमीन की रजिस्ट्री को सख्त कर दिया है। कई संपत्तियां विवादित हैं और सरयू नदी के वेटलैंड्स पर बिक्री के लिए बहुत सारे भूमि पार्सल नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल द्वारा देखे जा रहे हैं। जबकि अधिकांश खरीदार धार्मिक उद्देश्यों के लिए जमीन चाहते हैं जैसे कि धर्मशाला और सामुदायिक रसोई स्थापित करना, कुछ ऐसे भी हैं जो इसे भविष्य के लिए एक ठोस निवेश के रूप में देखते हैं।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »