10 Aug 2020, 01:56:17 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

बाबा रामदेव के खिलाफ झांसी के विभिन्न संगठनों ने खोला मोर्चा

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Jul 7 2020 10:14PM | Updated Date: Jul 7 2020 10:14PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

झांसी। उत्तर प्रदेश के झांसी में विभिन्न संगठनों ने पतंजलि योगपीठ के संस्थापक बाबा रामदेव और उनके सहयोगियों पर कोरोना की दवा को लेकर भ्रामक प्रचार करने का आरोप लगाते हुए इस सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है। बुन्देलखंड निर्माण मोर्चा (बुंनिमो) के अध्यक्ष भानू सहाय, किसान रक्षा पार्टी के अध्यक्ष गौरी शंकर बिदुआ, बुन्देलखंड क्रांति दल के अध्यक्ष सत्येंद्र पाल सिंह, भारतीय जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष पंकज रावत और उच्च न्यायालय के अधिवक्ता तथा विधि विभाग उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव अशोक सक्सेना मंगलवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे और उन्हें प्रार्थना पत्र देते हुए  कोरोना की दवा को जादुई बताते हुए भ्रामक प्रचार करने व लोगों की भावनाओं से खेलते हुए आपातकाल में लाभ कमाने की लालसा से काम करने वाले बाबा रामदेव, योगपीठ के सीईओ आचार्य बालकृष्ण, पीठ के वैज्ञानिक अनुराग वार्ष्णेय, निम्स विश्यविद्यालय के चेयरमैन डॉ. बलबीर सिंह तोमर और निम्स के डायरेक्टर अनुराग तोमर के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की। 
 
सभी संगठनों के प्रमुखों ने एक स्वर में कहा कि कोरोनिल को जादुई शक्ति की दवा बताते हुए उससे कोरोना को ठीक करने का दावा किया गया है। आपातकाल में ऐसा भ्रम फैलाकर व झूठ बोलकर लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाई गई है। इसके लिए उक्त सभी आरोपियों पर सुसंगत धाराओं में मुकद्मा दर्ज किया जाना चाहिए।
 
बुंनिमो अध्यक्ष भानू सहाय ने कहा कि बाबा रामदेव व अन्य ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए बनाये गये प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाई हैं। षड्यंत्र रचकर बड़ा लाभ कमाने की नीयत से बाबा रामदेव ने इलैक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के माध्यम से देश की जनता को बताया कि उन्होंने कोरोना वायरस की दवा बना ली है। उन्होंने  दावा किया कि इस दवा के प्रयोग से कोरोना के मरीज ठीक हो जाएंगे और जो संक्रमित नहीं है उनको कोरोना नही होगा। इस महामारी के समय भी पैसे की लालसा से किये गये इस काम के खिलाफ हम एसएसपी के पास शिकायत लेकर आये हैं और उन्होंने भी हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।
 
किसान नेता गौरी शंकर बिदुआ ने कहा कि बाबा रामदेव की कोरोना की दवा बना लेने के दावे के असर कोरोना से भयभीत लोगों पर ऐसा हुआ कि दूर दराज के गांवों से किसानों के फोन आने लगे कि झांसी के बाबा रामदेव के शोरूम से कैसे भी और कितनी भी महंगी हो परंतु यह दव खरीद लें, वह लोग जब झांसी आयेंगे तो उनसे दवा ले लेंगे। 
 
बुन्देलखंड क्रांति दल के अध्यक्ष ने कहा कि इन सभी षडयंत्रकारियों के खिलाफ तो केन्द्र सरकार को ही मुकदमा  करवा देना चाहिए था। इन लोगो ने प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर दवा बनायी और निम्स विश्वविद्यालय ने 100 लोगों पर उसका परीक्षण करानकर उन लोगो की जान खतरे में डालने का काम किया। सरकार नोटिस दे कर मामले को ठंडा करना चाह रही है इसलिए हमें एफ.आई.आर करवाने आना पड़ा। 
 
भारतीय प्रजशक्ति पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि देश मे कोरोना से लाखों लोग संक्रमित हो रहे है ऐसे समय मे लोगो की भावना से खेलकर बाबा रामदेव और अन्य मोटी रकम बनाने की फिराक में जुट गये है। विधि विभाग उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव  ने कहा कि आज यह एक नया दौर आ गया है। प्रत्येक अपराधी मानसिकता का व्यक्ति मोदी मोदी कहकर सत्ता के साथ जुड़ा दिखाकर अपराधी से फर्जी राष्ट्रभक्त बन जाता है और अकूत सम्पदा लूटने का षड्यंत्र करने में लग जाता है। इसका आर्थिक दुष्परिणाम जनता भोगती है। यही नहीं उसपर प्रतिबंध लगाने का भारी भरकम नुकसान हमारे जाबांज जवानों को भोगना पड़ता है। समय रहते इन पर रोक लगा दी जाऐ तो आगामी भयावह स्थित को रोका जा सकता है।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »