15 Apr 2021, 17:38:35 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Madhya Pradesh » Indore

प्रशासन ने कथित भू माफियाओं के कब्जे से मुक्त करायी सरकारी जमीन

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Feb 19 2021 12:28AM | Updated Date: Feb 19 2021 12:29AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

इंदौर। मध्यप्रदेश के इंदौर के जिला प्रशासन और पुलिस विभाग द्वारा की गई संयुक्त कार्रवाई के तहत तीन हजार 250 करोड़ रुपये की जमीन कथित भू-माफियाओं के कब्जे से मुक्त कराने का आज दावा किया गया है। इसी क्रम में 17 आरोपियों के विरुद्ध प्रकरण भी दर्ज किया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर कार्यवाही की गई है। 

कार्यवाही की जानकारी के देने के उद्देश्य से आज जिला कलेक्टर मनीष सिंह और पुलिस उपमहानिरीक्षक मनीष कपूरिया ने एक सयुक्त प्रेस वार्ता की। इस दौरान कलेक्टर सिंह ने बताया कि इंदौर जिले में कई सोसायटियों के सदस्यों से लगातार प्रशासन को शिकायत प्राप्त हो रहीं थी। जिनमे संस्था के सदस्यों से पूर्ण राशि जमा कराने के उपरांत भी उनके भू-खण्डों की रजिस्ट्री नहीं की गई थी एवं कई जगह रजिस्ट्री होने के बाद भी पात्र सदस्य सोसायटी में अनाधिकृत लोगों द्वारा किये गये कब्जे के कारण अपनी भू-खण्डों का भौतिक आधिपत्य प्राप्त नहीं कर पा रहे थे। 

कलेक्टर सिंह ने बताया इन्हीं प्राप्त शिकायतों पर की गई जांच के दौरान मजदूर पंचायत गृह निर्माण सहकारी संस्था की एमआर 10 स्थित पुष्प विहार कालोनी में पाया गया कि सोसायटी के 89 भूखंड जिनकी रजिस्ट्री सदस्यों के पक्ष में हो चुकी थी उस भूमि को कृषि भूमि बताते हुए लगभग 2.06 हेक्टर की भूमि को बिना अनुमति प्राप्त किये बेच दिया गया। साथ ही विक्रय से प्राप्त हुई राशि को अवैध रूप से नंदानगर साख संस्था में मजदूर पंचायत समिति के नाम से खाता खुलवाकर अंतरित कर दी गई। इस मामले में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ धौखाधड़ी एवं कूटरचना के मामले में थाना खजराना में एफआईआर दर्ज करायी गयी है। 

इसी क्रम में देवी अहिल्या श्रमिक कामगार सहकारी संस्था की एबी रोड स्थित अयोध्यापुरी कालोनी के संबंध में प्राप्त शिकायत की जांच के दौरान पाया गया कि कॉलोनी स्थित भू-खण्डों पर रजिस्ट्री उपरांत भी जमीनों के अवैध कारोबार में शामिल अनाधिकृत व्यक्तियों द्वारा कब्जा कर पात्र सदस्यों के भू-खण्डों पर सैकड़ों ट्रक मलवा डालकर रास्ते को बाधित कर दिया गया है। इसी के साथ वर्ष 2007 में कॉलोनी में पूर्व से सदस्यों को पंजीकृत हो चुके 96 भू-खण्डों की 4 एकड़ भूमि की रजिस्ट्री मेसर्स सिम्प्लेक्स इंवेस्टमेंट एण्ड मेगा फाईनेन्स प्रायवेट लिमिटेड कंपनी के पक्ष में कर दी गई। 

उक्त मामले पर कार्रवाई करते हुये मेसर्स सिम्प्लेक्स के संचालकों सहित आठ व्यक्तियों के विरूद्ध थाना एमआईजी में एफआईआर पंजीबद्ध करायी गई। इसी तरह खजराना गणेश मंदिर के पीछे वाले क्षेत्र में अवैध रूप से निर्मित की गई नई हिना पैलेस कॉलोनी पर कार्रवाई करते हुये संबंधित आरोपियों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किया गया। प्रशासन द्वारा की गई इस पूरी कार्रवाई में कुल 17 व्यक्तियों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज की गई। उल्लेखनीय है कि उक्त मामलों में कई शिकायतकर्ताओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलकर कार्रवाई का अनुरोध किया था। मुख्यमंत्री चौहान से प्राप्त हुये निर्देशों के तहत कलेक्टर सिंह के मार्गदर्शन में जिला प्रशासन द्वारा भू-माफियों के विरूद्ध की गई इस बड़ी कार्रवाई से लगभग एक हजार 500 पात्र व्यक्तियों को उनके भू-खण्डों का आधिपत्य दिलाकर न्याय प्रदान किया जायेगा।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »