06 Mar 2021, 16:57:37 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android

इंदौर। ब्रिटेन में कोरोना वायरस का नया स्वरूप (स्ट्रेन) सामने आने के बाद हरकत में आये मध्यप्रदेश के इंदौर जिले के स्वास्थ्य महकमें ने कल रात एलान किया हैं कि जिले में बीती 5 दिसम्बर के बाद ब्रिटेन से एक भी यात्री नहीं आया हैं, लिहाजा नागरिक पूरी तरह से कोरोना के इस नए स्वरूप से फिलहाल सुरक्षित हैं।
 
जिले के कोरोना के नोडल अधिकारी डॉ. अमित मालाकर ने बताया कि ब्रिटेन में कोरोना के अत्यधिक तेजी से फैलने वाले कोरोना के म्यूटेड नए स्वरूप (स्ट्रेन) के सामने आने के बाद ब्रिटेन से हवाई मार्ग से जुड़े भारत के विभिन्न हिस्सों में अलर्ट जारी किया गया हैं। इसी अलर्ट के चलते हमने ब्रिटेन से दिल्ली तथा अन्य जुड़ाव वाले स्थानों से इंदौर पहुंचने वाले यात्रियों की जानकारी जुटाना प्रारम्भ की।
जिस पर हमें बीती 22 और 23 दिसंबर को दो अलग-अलग सूची के माध्यम से विमानतल प्रबन्धन इंदौर की ओर से बताया गया कि दिसंबर माह में 125 यात्री ब्रिटेन से यहां पहुंचे हैं। इनमें से 30 यात्रियों के एहतियातन  कोविड़-19 के सेम्पल लिए जा चुके हैं, शेष 95 यात्रियों से हम संपर्क के प्रयास में जुटे हुए हैं। 
 
डॉ. मालाकर ने बताया कि हालांकि कल रात को हमारी कोरोना की निगरानीकर्ता उच्च स्तरीय अधिकारियों से इस विषय को लेकर चर्चा हुई हैं। जिसमें हमें निर्देशित करते हुए कहा गया है कि केवल बीते दस दिनों में यहां ब्रिटेन से आये यात्रियों की कोरोना जांच आवश्यक रूप से की जानी हैं। इस दस दिनों की अवधि से पहले भारत आये यात्रियों की जांच आवश्यक रूप से की जाने की जरूरत नहीं हैं। इस परिपेक्ष्य में इंदौर आये यात्रियों का रिकार्ड जांचना पर पाया गया है कि ब्रिटेन से यहां 5 दिसंबर के बाद कोई यात्री नहीं पहुंचा हैं। उन्होंने कहा कि लिहाजा इंदौर जिले को फिलहाल कोरोना के नए स्वरूप से पूरी तरह सुरक्षित कहा जा सकता हैं।
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »