21 Oct 2020, 07:39:23 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
entertainment » Bollywood

कृषि बिल के समर्थन में आए अभिनेता अनुपम खेर, कहा- अब किसान...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 21 2020 4:31PM | Updated Date: Sep 21 2020 4:32PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

मुंबई। राज्यसभा में भारी हंगामे के बीच रविवार को कृषि बिल पास हो गया। हंगामा करने वाले 8 विपक्षी सांसदों को इस सत्र के लिए निलंबित भी कर दिया गया है। इस बीच बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर मोदी सरकार के पक्ष में आए हैं। अनुपम खेर ने ट्वीट करते हुए इस बिल का समर्थन किया है। उनका कहना है कि यह बिल किसानों की हालत सुधारेगा और उन्हें आत्मनिर्भर बनाएगा।

पंजाब, हरियाणा सहित कई राज्यों में किसान केंद्र सरकार के इस बिल के खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कई मर्तबा आश्वासन दे चुके हैं कि इस बिल से न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं हटाया जाएगा न ही मंडियां खत्म होने जा रही हैं। इसके बावजूद किसानों के मन में आशंका है। वहीं इस बिल को राज्यसभा में हंगामे के बीच ध्वनि मत से पारित कर दिया गया। इस दौरान विपक्षी सांसदों ने रूल बुल फाड़ी और उप सभापति का माइक भी तोड़ दिया। हंगामा करने वाले 8 सांसदों को आज निलंबित कर दिया गया है।

अनुपम खेर की पत्नी किरण खेर बीजेपी की सांसद हैं। अनुपम खेर कई मौकों पर प्रधानमंत्री की तारीफ कर चुके हैं। कृषि बिल पर सरकार का साथ देने के लिए अनुपम ने सोशल साइट ट्विटर का सहारा लिया है। एक्टर खेर ने कहा,' 1990 में मेरी एक फिल्म आई थी जिसका निर्देशन किया था राजेश शेट्ठी साहब ने। इस फिल्म में मैंने एक गरीब किसान की भूमिका निभाई थी, जो खेती कर के अपना अनाज मंडी में लेकर जाता है। फिर मंडी में एक बिचौलिया अपने हिसाब से उसका दाम लगाता है। उसी सीन में अमरिश पूरी जी जो एक जमीदार की भूमिका निभा रहे थे, वो आते हैं और अपने हिसाब से दाम लगाकर कहते हैं सारा अनाज मेरे गोदाम में भेज दो। जब वही किसान एक राशन की दूकान पर जाता है तो पता चलता है कि उसने जो अनाज 150 रूपये में बेचा था वो 250 में बिक रहा है।'

अनुपम खेर ने कहा, 'पिछले 70 सालों से किसानों की हालत चिंताजनक है। अब यह स्थिति कृषि बिल के पारित होने से बदल गई है। किसान अब मालिक बन गया है। किसानों को आत्मनिर्भर बनना चाहिए।' बता दें कि संसद के दोनों सदनों से यह बिल पारित हो चुका है। राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद यह कानून की शक्ल ले लेगा।

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »