31 Oct 2020, 19:18:21 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

विराट ने कई बार अयोग्य खिलाड़ियों का किया समर्थन: जेनिंग्स

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 18 2020 12:34AM | Updated Date: Sep 18 2020 12:34AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के पूर्व कोच रे जेनिंग्स ने कप्तान विराट कोहली के टीम में खिलाड़ियों के चयन करने के फैसले पर सवाल उठाते हुए कहा है कि वह कई बार अयोग्य खिलाड़यिों को टीम में जगह देते थे। जेनिंग्स ने खेल वेबसाइट क्रिकेटडॉट कॉम को दिए एक इंटरव्यू में कहा, ‘‘जब मैं टीम का कोच था उन दिनों टीम में 20-25 खिलाड़ी होते थे। एक कोच के तौर पर मेरी जिम्मेदारी थी कि मैं सबका ध्यान रखूं।
 
लेकिन विराट का अपना अलग प्लान होता था। वह कई बार टीम में अकेले दिखते थे, क्योंकि वे अयोग्य खिलाड़यिों का समर्थन करते थे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘विराट की टीम अभी तक एक बार भी आईपीएल खिताब नहीं जीत सकी है। वहीं टीम इंडिया के कप्तान के तौर पर उनका प्रदर्शन शानदार रहा है। आपको एक ऐसा व्यक्ति चाहिए, जो विराट को सही मार्गदर्शन दे सके।’’ गौरतलब है कि जेनिंग्स 2009 से 2014 तक आरसीबी के कोच थे।
 
इस दौरान टीम दो बार 2009 और 2011 में आईपीएल का फाइनल खेली थी लेकिन खिताबी जीत से वंचित रह गई थी। जेनिंग्स ने बताया कि आईपीएल की कप्तानी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के मुकाबले ज्यादा चुनौतीपूर्ण है। उन्होंने कहा, ‘‘देखिए आईपीएल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से काफी अलग है। छह हफ्ते में कुछ खिलाड़ी फॉर्म में आ सकते हैं जबकि कुछ खिलाड़यिों का प्रदर्शन खराब हो सकता है। ऐसे में किसी एक खिलाड़ी पर जिम्मेदारी बढ़ जाती है जो निरंतर अच्छा खेल दिखाए। जब मैं टीम का कोच था तो उस दौरान कुछ और खिलाड़यिों को अधिक मौके मिलने चाहिए थे।
 
लेकिन तब कप्तान विराट की राय मुझसे भिन्न थी।’’ दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कोच रहे जेनिंग्स ने कहा,‘‘ हालांकि यह सारी बातें अब पुरानी हो चुकी हैं। यह देखकर अच्छा लग रहा है कि एक कप्तान के तौर पर अब विराट काफी परिपक्व हो गए हैं। वह टीम को सेमीफाइनल और फाइनल तक लेकर गए हैं और उम्मीद है वह अब आईपीएल ट्रॉफी भी जीतेंगे।’’ उल्लेखनीय है कि बतौर कप्तान विराट कोहली ने आईपीएल में अब तक 109 पारियों में पांच शतकों की मदद से 4010 रन बनाए हैं लेकिन उनकी कप्तानी में टीम अब तक एक बार खिताब नहीं जीत पायी है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »