21 Oct 2019, 00:09:55 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State

‘एक राष्ट्र -एक भाषा ‘ का विचार देश के संघीय ढांचे को तबाह कर देगा : विजय इंदर सिंगला

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 23 2019 2:04AM | Updated Date: Sep 23 2019 2:04AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

चंडीगढ़। पंजाब के शिक्षा मंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय इंदर सिंगला ने आज कहा कि भारतीय जनता पार्टी का चलाया जा रहा ‘एक राष्ट्र - एक भाषा’ का एजेंडा देश के संघीय ढांचे को तबाह कर देगा और यह प्रचलन बहुभाषाई राज्यों के सुमेल वाले भारत देश के लिए बहुत खतरनाक है। यहां जारी बयान में सिंगला ने कहा कि भारत के गृह मंत्री अमित शाह के ‘एक राष्ट्र - एक भाषा’ के बयान से भाजपा के गुप्त एजंडे की पोल खुल गई है जो देश के संविधान की मूल भावना के विरूद्ध है। उन्होंने कहा कि भारत बहु भाषाई, बहु सभ्यताओं, विविधताओं वाला देश है जिसका संविधान ‘अनेकता में एकता’ की बात करता है परंतु भाजपा नेता की बात संविधान की मूल भावना के उलट है। 

उन्होंने आरोप लगाया कि जब से राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार देश में आई है, तब से देश के संविधान को कमजोर करने की कोशिशें और संवैधानिक संस्थाओं की अवहेलना की जा रही है और अब इस नये विचार से देश के संविधान पर सबसे बड़ा हमला हुआ है। सिंगला ने केंद्रीय सत्ता में सहयोगी शिरोमणि अकाली दल को भी इस मामले पर स्थिति स्पष्ट करने के लिए कहा है। 

उन्होंने कहा कि अकाली दल के नेताओं की चुप्पी भी स्पष्ट करती है कि उनको देश के संघीय ढांचे के साथ कितना प्यार है और वह राज्यों के लिए कितने अधिक अधिकार मांगते हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब राज्य बना ही भाषा के आधार पर था और एक राष्ट्र एक भाषा का फार्मूला पंजाब जैसे राज्यों के लिए सबसे अधिक ख़तरनाक है। सिंगला ने कहा कि भारत में अलग -अलग राज्यों और क्षेत्रों की अपनी-अपनी भाषाएं हैं और एक भाषा वाली बात भाषाई आधार पर बने राज्यों के लोगों के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि इससे देश का संघीय ढांचा भी कमजोर होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा के इस विचार का कश्मीर से कन्याकुमारी तक विरोध होगा और कांग्रेस पार्टी कभी भी भाजपा को अपने मंसूबों में सफल नहीं होने देगी।

 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »