23 Nov 2019, 05:13:09 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Sport

मैरी का ऐतिहासिक 8वां पदक, मंजू, जमुना, लवलीना भी सेमीफाइनल में

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 11 2019 1:22AM | Updated Date: Oct 11 2019 1:22AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारत की सुपरस्टार महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम (51 किग्रा) ने रूस के उलान उदे में चल रही आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में गुरुवार को क्वार्टरफाइनल मुकाबले में कोलंबिया की लोरेना विक्टोरिया वेलेंशिया को 5-0 से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया और इसके साथ ही उन्होंने इस प्रतियोगिता के इतिहास में अपना रिकॉर्ड आठवां पदक भी सुनिश्चित कर लिया। मैरी के अलावा मंजू रानी ने 48 किग्रा, जमुना बोरो ने 54 किग्रा और लवनीना बोर्गोहेन ने 69 किग्रा के सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए कुल चार पदक पक्के कर दिए हैं।
 
लेकिन 81 किग्रा से अधिक के वर्ग में कविता को हार का सामना करना पड़ा। छह बार की विश्व चैंपियन और तीसरी वरीयता प्राप्त मैरी को पहले राउंड में बाई मिली थी। अपने आठवें खिताब की तलाश में लगीं तीन बच्चों की मां मैरी ने क्वार्टरफाइनल में वेलेंशिया को 5-0 से पीटा और सेमीफाइनल में जगह बना ली। इसके साथ ही उनका विश्व चैंपियनशिप में आठवां पदक पक्का हो गया। विश्व चैंपियनशिप के इतिहास में मैरीकॉम इस तरह सबसे सफल खिलाड़ी बन गयीं।
 
उन्होंने क्यूबा के फेलिक्स सेवोन को पीछे छोड़ दिया जिनके नाम सात पदक थे। 36 साल की मैरी का सेमीफाइनल में दूसरी सीड तुर्की की बुसेनाज काकिरोग्लू से शनिवार को मुकाबला होगा जिन्होंने एक अन्य क्वार्टरफाइनल मुकाबले में चीन की काई जोंग्जू को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। ओलंपिक पदक विजेता मैरी ने अबतक विश्व चैंपियनशिप में छह स्वर्ण और एक रजत पदक जीता है। मैरी के पिछले सात पदक 48 किग्रा वर्ग में आए थे और अब उन्होंने 51 किग्रा में भी अपना पहला पदक सुनिश्चित कर लिया है। वह इस वर्ग में पहले क्वार्टरफाइनल तक पहुंची थी।
 
अपनी जीत के बाद मैरी ने कहा, विश्व चैंपियनशिप में अपना आठवां पदक सुनिश्चित करने के बाद मैं बहुत खुश हूं लेकिन मैं यहां नहीं रुकूंगी और फाइनल में पहुंचने के लिए पूरा जोर लगाऊंगी। मैरी की सेमीफाइनल की प्रतिद्वंद्वी काकिरोग्लू यूरोपियन चैंपियन हैं और यूरोपीय खेलों की स्वर्ण विजेता हैं। अन्य मुकाबलों में छठी सीड मंजू ने 48 किग्रा में टॉप सीड कोरिया की किम जोंग मी को उलटफेर का शिकार बनाते हुए 4-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनायी।
 
जमुना ने 54 किग्रा वर्ग में जर्मनी की उर्सुला गोटलोब को 4-1 से और पिछली कांस्य पदक विजेता और तीसरी सीड लवलीना ने 69 किग्रा में छठी सीड पोलैंड की कैरोलिना कॉसजेवस्का को 4-1 से पराजित कर सेमीफाइनल में स्थान पक्का किया। कविता को 81 किग्रा से अधिक के वर्ग में बेलारुस की कैटसियाराना कावालेवा से 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। कविता के वर्ग में कम मुक्केबाज होने के कारण उन्हें सीधे ही क्वार्टरफाइनल में प्रवेश मिला था लेकिन वह अपनी पहली बाधा पार नहीं कर पायीं। मंजू का सेमीफाइनल में थाईलैंड की चुथामत रकसत से, बोरो का टॉप सीड हुआंग सियाओ-वेन से और लवलीना का चीन की यांग लियू से मुकाबला होगा। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »