15 Dec 2019, 03:28:08 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
State » Others

पूर्वोत्तर तटीय आंध्र प्रदेश और तटीय कर्नाटक मानसून कमजोर

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Nov 10 2019 12:23AM | Updated Date: Nov 10 2019 12:24AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

पुणे। पूर्वोत्तर मानसून तटीय आंध्र प्रदेश और तटीय कर्नाटक में दब गया है जबकि पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती इलाके, ओडिशा के अलग-अलग स्थानों पर भारी असम और मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल, माहे और तमिलनाडु, पुड्डुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा होने का अनुमान है। रात का तापमान जम्मू- कश्मीर, मध्य महाराष्ट्र और तटीय आंध्र प्रदेश के कुछ हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से नीचे रहा। नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और गुजरात के कुछ हिस्सों में तथा मध्य महाराष्ट्र के शेष हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से अत्यधिक ऊपर रहा। अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, पश्चिम बंगाल के पर्वतीय क्षेत्र, सिक्किम, ओडिशा, झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, पश्चिम राजस्थान, विदर्भ, तेलंगाना और तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में तथा पूर्व राजस्थान और मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों में तापमान सामान्य से काफी ऊपर रहा।
 
पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती इलाके, उत्तराखंड, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, सौराष्ट्र, कच्छ, मराठवाड़ा, रायलसीमा और केरल के कुछ हिस्सों में तथा ओडिशा, उत्तर प्रदेश, गुजरात , विदर्भ, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और तमिलनाडु के शेष भागों में तापमान सामान्य से ऊपर रहा। अमृतसर (पंजाब) में सबसे कम न्यूनतम तापमान 11.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पूर्व मध्य प्रदेश, केरल, माहे और तमिलनाडु, पुड्डुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर कल 08Þ 30 बजे से आज सुबह 08Þ 30 तक तूफान का प्रभाव रहा। दक्षिण असम, पूर्वी मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल, माहे, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में अलग-अलग स्थानों पर गरज के साथ बारिश हो सकती है। बंगाल की उत्तर पश्चिमी खाड़ी में 130-140 किमी प्रति घंटे की तेज गति से चलने वाली आंधी हवा की गति बढ़ कर 155 किमी प्रति घंटे हो सकती है।
 
आज शाम तक यह धीरे-धीरे हवा की गति घट कर 120-125 किमी प्रति घंटे हो गयी और अधिकतम तेज गति भी घट कर 140 किमी प्रति घंटा रह गयी। केंद्रपारा, जगत सिंहपुर, बालासोर और भद्रक जिलों मे हवा की गति 70-80 किमी प्रति घंटा तक चल सकती है, जिसकी गति बढ कर 90 किमी प्रति घंटा हो सकती है। पुरी और गंजम जिलों में अगले 06 घंटों के दौरान 40-50 किमी प्रति घंटे की तेज गति से हवा चल सकती है जिसकी गति 60 किमी प्रति घंटे की तेज गति तक पहुंच सकती है। तटीय पश्चिम बंगाल और आस पास के इलाके में 70-80 किमी प्रति घंटा की तेज गति से चल सकती है जिसकी गति 90 किमी प्रति घंटे तक बढ़ सकती है। पूर्वी मिदनापुर, उत्तर और दक्षिण 24 परगना अगले 12 घंटे के दौरान हवा की  गति 115-125 किमी प्रति घंटे तक बढ़ सकती है और अधिकतम तेज गति 140 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है।  इस अवधि के दौरान पश्चिम मेदिनीपुर, हावड़ा और हुगली से सटे जिलों में 50-60 किमी प्रति घंटे की तेज गति आंधी चल सकती है जिसकी गति 70 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।
 
बंगाल की उत्तर पश्चिमी खाड़ी में समुद्र की स्थिति खराब होने का अनुमान है। बंगाल की उत्तर-पूर्व की खाड़ी, उत्तर ओडिशा तट के साथ और पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटों पर समुद्र की लहरें तेज हो सकती है। पश्चिम मध्य और उत्तर बंगाल की खाड़ी  और तटीय ओडिशा-पश्चिम बंगाल के समुद्र में मछुआरों को नहीं जाने की सलाह दी जाती है। पिछले 24 घंटा के दौरान पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती इलाके के अधिकांश स्थानों पर तथा  नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा में कई स्थानों पर बारिश हुयी। इसके साथ ही ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, कोंकण, गोवा, तमिलनाडु, केरल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में कुछ स्थानों पर तथा  असम, मेघालय, पंजाब, जम्मू कश्मीर, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, पश्चिम मध्य प्रदेश, विदर्भ, गुजरात , मध्य महाराष्ट्र, मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, रायलसीमा, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और उत्तर आंतरिक कर्नाटक के अलग अलग हिस्सों में बारिश हुयी या फिर गरज के साथ छींटे पड़े। अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल के पर्वतीय क्षेत्र, सिक्किम, झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, पश्चिम राजस्थान, छत्तीसगढ़, सौराष्ट्र, कच्छ, तटीय कर्नाटक और लक्षद्वीप में मौसम शुष्क रहा।
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »