18 Sep 2019, 23:02:25 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

देश को अर्थशास्त्र की बुनियादी जानकारी वाला वित्त मंत्री चाहिए : कांग्रेस

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 24 2019 1:50AM | Updated Date: Aug 24 2019 1:50AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। भारतीय अर्थव्यवस्था के संकट में होने की रिपोर्टों के बीच कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि देश को एक ऐसे वित्त मंत्री की जरूरत है जिसे अर्थव्यवस्था की बुनियादी जानकारी हो। कांग्रेस ने अपनी आधिकारिक टिवटर साइट पर पर कहा‘‘ देश को इस समय एक ऐसे वित्त मंत्री की बेहद सख्त जरूरत है जिसे बुनियादी अर्थव्यवस्था की समझ हो। हमारी वृद्धि दर भले ही अमेरिका और चीन से अधिक हो लेकिन वे 21 खरब और 14.8 खरब डालर की अर्थव्यवस्था हैं और हम मात्र 2.8 खरब डालर की अर्थव्वयवस्था हैं। गौरतलब है कि आर्थिक स्थिति को लेकर हो रही सरकार की आलोचना के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा था कि दुनिया भर में अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में हलचल के बावजूद भारत की आर्थिक स्थिति बेहतर है।

सीतारमण ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि दुनिया भर में आर्थिक क्षेत्र में अस्थिरता का माहौल है। ‘व्यापार जंग’ की वजह से कई देशों में अर्थव्यवस्था की हालत अस्थिर है। इन सब परिस्थितियों के बावजूद भारत की अर्थव्यवस्था बेहतर स्थिति में है। भारत अब भी सबसे तेज गति से बढ़ रही अर्थव्यवस्था है। उन्होंने कहा  था कि चीन, अमेरिका, जर्मनी जैसे देशों के मुकाबले भी हमारी विकास दर ज्यादा है। सरकार के एजेन्डा में आर्थिक सुधार सबसे ऊपर हैं और इन सुधारों की प्रक्रिया 2014 से लगातार जारी है। देश में कारोबार करना आसान हुआ है।

इसी मसले पर कांग्रेस ने वित्त मंत्री की जमकर आलोचना करते हुए कहा है  कि वित्त मंत्री ने बहुत ही शानदार तरीके से उन नुकसानों की उपेक्षा की है जो नोटबंदी और जीसएटी के कारण हुए थे और देश की अर्थव्यवस्था में आई मंदी का कारण वैश्विक कारोबार में गिरावट से जोड़ दिया। पार्टी ने कहा कि शायद वह इस बात को भूल चुकी है कि जब 2008 में विश्व में मंदी का दौर चल रहा था तो हमारी अर्थव्यवस्था पूरी तरह स्थिर थी और यह डा मनमोहन सिंह की नीतियों के कारण ही संभव था। इससे पहले यहां कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते  कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा था  कि देश के तीन करोड़ से अधिक लोगों के समक्ष बेरोजगार होने का संकट मंडरा रहा है। उन्होंने कहा ‘‘ जब आपकी अर्थव्यवस्था अपने अस्थिर दौर में आ चुकी है तो ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की चुप्पी  बहरा करने वाली है, आज आप दल बदल , बदले की राजनीति और  देश में अघोषित आपातकाल देख रहे हैं।’’

उन्होंने नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार के उस बयान का जिक्र किया जिसमें उन्होंने कहा था कि भारतीय अर्थव्यवस्था इस समय अभूतपूर्व संकट का सामना कर रही है और सरकार को इस दिशा में ध्यान देने की आवश्यकता है।इस कहा कि  स्वीकारोक्ति के लिए कुमार को धन्यवाद दिया जाना चाहिए। गौरतलब है  कि कुमार ने कल कहा था कि देश में पिछले 70 वर्षों में तरलता की ऐसी स्थिति नहीं देखी है और पूरा वित्तीय क्षेत्र भंवर में फंस गया है तथा कोई भी दूसरे पर यकीन नहीं कर रहा है। तिवारी ने कहा‘‘ इस स्वीकारोक्ति में थोड़ा संशोधन  किए जाने  की आवश्यकता है और यह केवल वित्तीय क्षेत्र ही नहीं बल्कि पूरी अर्थव्यवस्था में है। देश की अर्थव्यवस्था की हालत इस समय अभूतपूर्व है जो शायद पिछले 70 वर्षों में कभी नहीं देखी गई है।’’

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »