19 Nov 2018, 00:21:48 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

वाजपेयी के निधन पर बोले PM मोदी- पिता तुल्य संरक्षक का उठा साया

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Aug 17 2018 10:48AM | Updated Date: Aug 17 2018 10:48AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। अटल बिहारी वाजपेयी को पिता तुल्य बताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उनके निधन से अपूरणीय क्षति हुयी है।टेलीविजन पर प्रसारित एक संक्षिप्त संबोधन में मोदी ने कहा कि वाजपेयी ने अपने नेतृत्व और संघर्ष से जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी को मजबूती प्रदान की।
 
उन्होंने कहा कि वाजपेयी इन पार्टियों को देश के हर हिस्से तक ले गए और भाजपा की नीतियां तथा सिद्धांत का विस्तार लोगों तक किया।उन्होंने कहा कि वाजपेयी का निधन पिता तुल्य संरक्षक का साया सिर से उठने जैसा है। मोदी ने कहा, ‘अटल जी ने मुझे संगठन और शासन के महत्व के बारे में समझाया।’ उन्होंने कहा कि वह जब कभी वाजपेयी से मिलते थे तो वह आत्मीयता के साथ गले लगाते।  
 
मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। 
 
हम सभी के श्रद्धेय अटल जी हमारे बीच नहीं रहे। अपने जीवन का प्रत्येक पल उन्होंने राष्ट्र को समर्पित कर दिया था। उनका जाना, एक युग का अंत है। उन्होंने कहा कि हमने अपनी प्रेरणा खो दी है। हमने अटल रत्न खो दिया है। अटल जी का व्यक्तित्व और उनके जाने का दुख दोनों शब्दों के दायरे से परे हैं।‘भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर पड़ोसी मुल्कों ने ऐसे दी श्रद्धांजलि मोदी वाजपेयी के निवास 6 ए, कृष्ण मेनन मार्ग गए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। 
 
इसके पहले वाजपेयी के निधन को प्रधानमंत्री मोदी ने अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि उन्होंने जीवन का प्रत्येक पल राष्ट्र को समर्पित कर दिया था और उनका जाना, एक युग का अंत है। अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे। ओम शांति !
 
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘अटल जी का जाना मेरे लिये व्यक्तिगत और अपूरणीय क्षति है। मेरे पास उनसे जुड़ी असंख्य स्मृतियां हैं । मेरे जैसे कार्यकर्ताओं के लिये वे प्रेरणस्रोत रहेंगे। मैं उनकी तीक्ष्ण बुद्धिमता और अभूतपूर्व वाकपटुता को खासतौर पर याद कर रहा हूं ।‘पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की ऐसे हुई थी शिक्षा-दीक्षामोदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के अभूतपूर्व नेतृत्व के कारण ही 21वीं सदी में मजबूत, समृद्ध और समावेशी भारत की नींव स्थापित हुई।
 
 विभिन्न क्षेत्रों में उनकी भविष्योन्मुखी नीतियों ने प्रत्येक भारतीय नागरिक के जीवन को छुआ। उन्होंने कहा कि अटलजी की तपस्या और संघर्ष के कारण ही भाजपा का तिनका तिनका जोड़कर निर्माण हुआ।उन्होंने सम्पूर्ण भारत का दौरा किया और भाजपा के संदेश का प्रचार प्रसार किया जिसके कारण भाजपा राष्ट्रीय राजनीति और कई राज्यों में एक मजबूत ताकत बन सकी। उल्लेखनीय है कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी का लम्बी बीमारी के बाद आज अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स में निधन हो गया। 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »