15 Dec 2019, 04:39:18 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

रक्षा निर्यात अगले पांच साल में 35 हजार करोड़ की प्रबल संभावना : जनरल रावत

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Oct 19 2019 12:16AM | Updated Date: Oct 19 2019 12:21AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज कहा कि देश को रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने तथा रक्षा उत्पादों का पमुख निर्यातक बनाने की कोशिशें रंग ला रही हैं और अगले पांच साल में रक्षा निर्यात के 35 हजार करोड़ तक पहुंचने की प्रबल संभावना है। जनरल रावत ने शुक्रवार को यहां रक्षा अताचियों के चौथे सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि विनिर्माण के क्षेत्र में देश की रक्षा क्षमता निरंतर बढ रही है और इसके अगले पांच साल में 35 हजार करोड़ तक पहुंचने की संभावना है। उन्होंने कहा , ‘‘ हम धीरे धीरे निर्यातोन्मुखी रक्षा उद्योग बन रहे हैं और हमारा रक्षा निर्यात जो अभी एक वर्ष में 11 हजार करोड़ रूपये है अगले पांच वर्ष में यह 35 हजार करोड़ रूपये तक पहुंच जायेगा। ’’          

उन्होंने कहा कि यह निराशाजनक है कि आजादी के 70 वर्ष बाद भी हम विदेशों से सैन्य साजो सामान का आयात करते रहे हैं लेकिन अब स्थिति बदल रही है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन सेनाओं की जरूरत को ध्यान में रखकर  उत्पाद बना रहा है और उनकी आपूर्ति कर रहा है। सेना प्रमुख ने कहा कि दुनिया में निरंतर बदलती परिस्थितियों के मद्देनजर रक्षा उद्योग को सेनाओं की जरूरतों को उसकी के अनुरूप पूरा करना होगा। सेना का उद्देश्य शांति और स्थिरता बनाये रखना होता है लेकिन इसके लिए उसकी क्षमता और ताकत बढाने के लिए उसे अत्याधुनिक साजो सामान से लैस करना जरूरी है। जनरल रावत ने कहा कि भारत पड़ोस में शांति और स्थितरता के लिए प्रतिबद्ध है और सेना मित्र देशों के साथ मिलकर किसी भी नये खतरे का सामना करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना दुनिया की केवल आकार में ही बड़ी सेनाओं में शुमार नहीं है बल्कि वह अपने अनुभव, कौशल और पेशेवर रूख के लिए भी जानी जाती है। 

  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »