18 Jun 2019, 22:07:43 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

दिल्ली में ‘नाकामपंथ’ की राजनीतिक संस्कृति लायी आम आदमी पार्टी : मोदी

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 8 2019 11:29PM | Updated Date: May 8 2019 11:29PM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सभी प्रमुख विपक्षी दलों की कड़ी आलोचना करते हुए आज कहा कि आजादी के बाद देश की राजनीति में मुख्य रूप से चार राजनीतिक संस्कृतियों को देखा गया लेकिन दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने ‘नाकामपंथ’ की पांचवीं संस्कृति स्थापित की है। मोदी ने यहां रामलीला मैदान में भारतीय जनता पार्टी की ओर से आयोजित एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पहले देश की राजनीति में नामपंथी, वामपंथी, दाम एवं दमनपंथी तथा विकासपंथी परंपराएं हैं लेकिन दिल्ली ने एक नयी पांचवी राजनीतिक संस्कृति -नाकामपंथी राजनीति की शुरूआत की है। जनसभा में दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों के उम्मीदवार भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि नामपंथी का विजन विरासत की राजनीति में है तथा वामपंथी विदेशी विचार एवं व्यवहार की दृष्टि रखते हैं।
 
दाम एवं दमनपंथी गुंडातंत्र को गणतंत्र की परिभाषा मानते हैं जबकि विकासपंथी सबका साथ सबका विकास को सर्वोपरि मानते हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली देश का इकलौता राज्य है जिसने राजनीति में नाकामपंथी की पांचवीं परंपरा जोड़ी है जो ना काम करते हैं और काम में विश्वास नहीं रखते हैं। अराजकता और विश्वासघात करने में महारत हासिल है। प्रधानमंत्री ने आम आदमी पार्टी का नाम लिये बिना कहा कि इस पार्टी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ बड़े आंदोलन को नाकाम करने का पाप किया है तथा आम आदमी की छवि को बदनाम किया है और करोड़ो युवाओं के भरोसे का चकनाचूर कर दिया है। उन्होंने कहा कि ये देश बदलने आये थे और खुद ही बदल गये। नयी व्यवस्था देने आये थे लेकिन अव्यवस्था एवं अराजकता का दूसरा नाम बन गये। उन्होंने कहा कि व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा के कारण यू टर्न लेने एवं दूसरों को गाली देने का कुसंस्कार प्रकट किया है। हर नाकामी का ठीकरा दूसरों पर फोड़ा।
 
पंजाब में देश विरोधियों एवं खालिस्तान समर्थकों को सहयोग दिया बल्कि विदेशों में भी देश विरोधी ताकतों से संपर्क करने में संकोच नहीं किया। उन्होंने आप सरकार पर नकारात्मक सोच से काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना नहीं लागू की गयी है जिससे गरीबों को उपचार की सुविधा नहीं मिल रही है। इतना ही नहीं यहीं सामान्य वर्ग के गरीबों का दस प्रतिशत की आरक्षण की सुविधा का लाभ नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने दिल्ली की वर्तमान स्थिति के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि राजधानी में नाकामपंथी सरकार स्थापित करने की जिम्मेदार नामपंथी पार्टी है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »