16 Jun 2019, 12:01:01 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news

सुषमा का ममता को जवाब, दुश्मनी जमकर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे...

By Dabangdunia News Service | Publish Date: May 8 2019 10:03AM | Updated Date: May 8 2019 10:03AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता में एक चुनावी रैली के दौरान कहा था कि पीएम नरेंद्र मोदी को लोकतंत्र का मजबूत तमाचा पड़ना चाहिए। अब केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ममता बनर्जी के इन बयानों का एक ट्वीट के जरिए जवाब दिया है। उन्होंने बेहद सधे शब्दों में ममता को चेतावनी भरा जवाब देते हुए कहा कि आप राज्य की मुख्यमंत्री हैं और मोदी जी देश के प्रधानमंत्री हैं कल आपको उन्हीं से बात करनी है। 
 
सुषमा स्वराज ने मशहूर कवि बशीर बद्र की कविता की दो लाइनों का उल्लेख करते हुए ट्वीट किया। ममता जी - आज आपने सारी हदें पार कर दीं. आप प्रदेश की मुख्यमंत्री हैं और मोदी जी देश के प्रधान मंत्री हैं. कल आपको उन्हीं से बात करनी है. इसलिए बशीर बद्र का एक शेर याद दिला रही हूँ :
 
       दुश्मनी जम कर करो लेकिन ये गुंजाइश रहे, 
       जब कभी हम दोस्त हो जाएँ तो शर्मिंदा न हों.
 
ममता बनर्जी का ये बयान पीएम नरेंद्र मोदी के उस बयान के बाद आय़ा था जिसमें उन्होंने कहा था कि ट्रिपल टी से ये राज्य चल रहा है। टी-तृणमूल, तोलाबाजी और टैक्स। तोलाबाजी का मतलब बंगाली में फिरौती होता है। ममता ने यहां कहा कि मेरे लिए पैसा मायने नहीं रखता है, शायद इसीलिए जब भी नरेंद्र मोदी बंगाल आते हैं मेरी पार्टी को तोलाबाज बताते हैं। यहीं पर उन्होंने आगे कहा था कि मैं उन्हें लोकतंत्र का एक जोरदार थप्पड़ देना चाहती हूं। 
 
बता दें कि इससे पहले सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि उन्होंने पीएम मोदी को चक्रवात फोनी पर चर्चा करने के लिए वापस से कॉल नहीं किया था क्योंकि मैं एक एक्सपायरी पीएम के साथ स्टेज शेयर नहीं करना चाहती। मैं अब उन्हें प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं देखती। जब नया प्रधानमंत्री आएगा तब हम उससे बात करेंगे। 
 
इसी के बाद ये विवाद बढ़ता गया जिसके बाद पीएम मोदी ने तोलाबाद वाली टिप्पणी की थी। फिर ममता बनर्जी नेकहा कि मैं तोलाबाज हूं तो आप क्या हैं? आपकी पूरी पार्टी ऊपर से नीचे तक लोगों के खून से रंगी  है। केवल दंगे, दंगे और केवल दंगे.. 
 
गौरतलब है कि बीजेपी ने पश्चिम बंगाल की सीटों पर जीत हासिल करने के लिए पूरी एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया है। इसके पहले साल 2014 में बीजेपी को यहां सिर्फ 2 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »