21 Apr 2019, 03:38:55 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
news » National

होली पर हैवानियत : मुस्लिम परिवार पर दबंगों ने किया जानलेवा हमला

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Mar 23 2019 10:42AM | Updated Date: Mar 23 2019 10:42AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

गुरुग्राम। गुरुवार को जहां पूरे देश भर में सौहार्द एकता और प्रेम के साथ होली मनाई जा रही थी वहीं गुरुग्राम में कुछ लोग मिलकर एक परिवार के ऊपर जुल्म ढा रहे थे। दरअसल ये परिवार मुस्लिम समुदाय का था। जानकारी के मुताबिक हथियारों से लैस 20 लोगों का समूह भोंड़सी स्थित भूप सिंह नगर में 32 वर्षीय मोहम्मद दिलशाद के दो मंजिला मकान में घुस आया और उन्हें धमकाने लगा।
 
वे हॉकी स्टिक अपने साथ लेकर आए थे और उसी से परिवार पर हमला कर दिया। बाद में पुलिस को दर्ज किए शिकायत में दिलशाद ने बताया कि लोगों ने उसके घर पर पत्थरों से हमला किया और हमारी बाइक भी तोड़ दी इसके बाद हमने सुरक्षा के लिहाज से घर की महिलाओं को दूसरी मंजिल पर भेज दिया। 
 
वहीं से उसकी 21 वर्षीय एक बेटी दनिश्ता ने इस पूरे हमले का वीडियो बना लिया जो सोशल मीडिया पर अब वायरल हो गया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि लोग पत्थरों और हॉकी स्टिक से लोगों पर हमला कर रहे हैं और बड़ी बूढ़ी महिलाएं उनसे दया की भीख मांग रही हैं। 
दिलशाद मूल रुप से उत्तर प्रदेश के बागपत का रहने वाला है जो भोंड़सी में कूलर बेचने का काम करता है। उसने 4 सालों पहले ये मकान बनाया था जिसमें वह अपने परिवार और अपने अंकल के परिवार के साथ रहता था। इस इलाके में 4-5 मुस्लिम परिवार के लोग रहते हैं। 
 
पुलिस ने बताया कि विवाद क्रिकेट खेलने को लेकर शुरू हुआ था। दिलशाद यहां होली की शाम 3 बजे के करीब अपने पड़ोसियों के साथ क्रिकेट खेलने के लिए पास के मैदान में गया। अचानक 9 लड़के तीन बाइक पर आए और चिल्लाकर उन्हें कहने लगे तुम यहां क्या कर रहे हो? जाओ पाकिस्तान। इसके बाद वे वहां से क्रिकेट छोड़ घर आ गए लेकिन वे लड़के घर पर भी आ गए और हमला करना शुरू कर दिया।  
 
इतना ही नहीं वे आलमीरा से 25,000 रुपए, एक सोने की चेन और एक जोड़ी ईयररिंग भी निकाल ले गए। इसके बाद वे ऊपर के कमरे में आ गए और दिलशाद को बेरहमी से खूब मारा जिसके बाद वह बेहोश हो गया। जाते-जाते वे उनकी गाड़ियां भी तोड़ते हुए चले गए। इसके बाद उन्होंने पुलिस को कॉल किया जिसके बाद उन्हें घायलावस्था में अस्पताल पहुंचाया गया।
 
उसने बताया कि हमलावरों ने महिलाओं और बच्चों को भी नहीं छोड़ा और उन्हें भी मारा, ये पूरा तमाशा 15 मिनट तक चला। दनिश्ता ने बताया कि उन लड़कों में से एक ने मुझे वीडियो बनाते हुए देख लिया जिसके बाद वे अपनी पहचान उजागर होने के डर से चिल्लाते हुए मुझे पकड़ने के लिए ऊपर आ गए तब तक उसने फोन को टाइल्स के पीछे छुपा दिया था। दिलशाद की शिकायत के आधार पर अज्ञात हमलावरों के किलाफ आईपीसी की धारा 147 (दंगे), 148, 452, 506 और 307 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।  
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »