16 Oct 2018, 15:56:54 के समाचार About us Android App Advertisement Contact us app facebook twitter android
Business » Automobile

जूमकार ने कार सब्सक्रिप्शन मॉडल प्रस्तुत किया

By Dabangdunia News Service | Publish Date: Sep 7 2018 10:34AM | Updated Date: Sep 7 2018 10:35AM
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

इंदौर। भारत के सबसे बड़े सेल्फ-ड्राइव शेयर्ड मोबिलिटी प्लेटफॉर्म जूमकार ने आज इंदौर में संपूर्ण परिचालन के साथ कार सब्सक्रिप्शन मॉडल प्रस्तुत किया। जेप सब्सक्रिप्शन जूमकार का प्रमुख आंशिक साझा कार्यक्रम है, जिसमें एक कार पर 6, 12 या 24 माह के लिए सब्सक्रिप्शन किया जा सकता है और चाहत अनुसार नई कार ली जा सकती है।
 
हाल ही में, शहरीकरण में दिलचस्पी और पर्यावरण, ऊर्जा तथा आर्थिक चिंताओं के कारण भारत में साझा परिवहन में वृद्धि हुई है, जिससे स्थायी विकल्पों की आवश्यकता बढ़ी है।  इस बारे में अपनी बात रखते हुए जूमकार के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं सह-संस्थापक ग्रेग मोरान ने कहा, जेप सब्सक्राइब से जूमकार ने भारत में अपने प्रकार का पहला कार सब्सक्रिप्शन मॉडल प्रस्तुत किया है। 
 
ग्राहकों को सेवा के लिए मासिक सब्सक्रिप्शन शुल्क देना होगा। सब्सक्रिप्शन के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया बहुत सरल है। इसके लिए यूजर को वेबसाइट  पर रजिस्टर होने, अपनी पसंद का वाहन चुनने और केवल 2100 रुपए का रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपोजिट देकर उसे रिजर्व करने की जरूरत होती है। कार सिक्योर्ड होने के बाद एक माह का भुगतान ऐडवांस में दिया जाता है। भुगतान के 48 घंटों के भीतर कार डिलीवर की जाती है। कार के उपयोग में ना होने पर सब्सक्राइबर जेब पर कार को लिस्ट कर सकते हैं एवं अन्य ग्राहकों के साथ कार को साझा करने से मासिक सब्सक्रिप्शन शुल्क की बचत भी कर सकते हैं। 
 
भारतीय सेल्फ-ड्राइव शेयरिंग मोबिलिटी में अग्रणीअप्रैल 2013 में लॉन्च हुआ जूमकार भारत के अधिकांश शहरों में सफल हुआ है, 35 शहरों में 12 लाख ट्रिप्स और 4000-6000 रुपए का औसत टिकट साइज रहा है। जूमकार की वृद्धि ने इसे भारतीय सेल्फ-ड्राइव शेयरिंग मोबिलिटी में अग्रणी बनाया है।
 
वर्तमान में भारत में जूमकार के 30 लाख से अधिक रजिस्टर्ड यूजर्स हैं और सब्सक्राइब्ड कारों समेत 4000 करों का बेड़ा इसके पास है। जेब सब्सक्रिप्शन में 20 से अधिक मॉडल्स हैं, जिनमें हैचबैक्स, सेडान्स और एसयूवी प्रमुखता से टियर 1 और टियर 2 शहरों में हैं। मेट्रो और नॉन-मेट्रो शहर संपूर्ण व्यवसाय में क्रमश: 80 प्रतिशत और 20 प्रतिशत का योगदान देते हैं और इंदौर जूमकार के लिए सबसे अधिक योगदान देने वाला नॉन-मेट्रो शहर है। 
 
  • facebook
  • twitter
  • googleplus
  • linkedin

More News »